आपने कोरोमा वायरस की वास्तविक तस्वीर देखी, जो माइक्रोमीटर का 1000 वां हिस्सा था

February 04, 2020
आपने कोरोमा वायरस की वास्तविक तस्वीर देखी, जो माइक्रोमीटर का 1000 वां हिस्सा था

कोरोना वायरस ने चीन में तबाही मचाई है और अब तक इस खतरनाक वायरस ने तीन सौ से अधिक लोगों की जान ले ली है जबकि कई लोग गंभीर स्थिति में हैं। पूरी दुनिया इस वायरस से डरी हुई है और वैज्ञानिक दिन-रात इसके टीके की तलाश में डूबे हुए हैं। अब बेहद खतरनाक कोरोना वायरस की असली तस्वीर भी माइक्रोस्कोप के जरिए दुनिया के सामने आई है, जो लोगों को चौंका रही है।
माइक्रोस्कोप के माध्यम से पता चला कोरोना वायरस की तस्वीर में, वायरस को एक मिलीमीटर के दस लाखवें हिस्से में विभाजित किया जाना है ताकि इसे मापा जा सके।
शोधकर्ताओं ने हाल ही में कोरोना वायरस (2019-nCoV) के कारण चीन में सैकड़ों मौतों के बाद इस घातक वायरस के माइक्रोस्कोप के तहत खींची गई तस्वीरें जारी कीं।
वायरस ने पूरे महाद्वीप को घेर लिया है और कई अंतरराष्ट्रीय संगठनों ने इसे सार्वजनिक स्वास्थ्य के लिए आपातकाल घोषित कर दिया है।
हांगकांग यूनिवर्सिटी के एलकेएस फैकल्टी ऑफ मेडिसिन ने इस घातक और खतरनाक वायरस की तस्वीर की एक प्रति जारी की है। इस वायरस का आकार माइक्रोमीटर में है, जो एक मिलीमीटर का एक हजारवां हिस्सा है। वायरस 20 नैनोमीटर व्यास के बीच होते हैं। एक नैनोमीटर एक माइक्रोमीटर का एक हजारवां हिस्सा है।
आपको बता दें कि इस बीमारी से लड़ने के लिए एक महिला वैज्ञानिक दिन-रात काम कर रही है। स्कॉटलैंड के रहने वाले केट ब्रोडरिक कोरोना वायरस से बचाव के लिए एक वैक्सीन का आविष्कार करने की कोशिश कर रहे हैं। द टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, ब्रोडरिक रात में केवल 2 घंटे सो रहा है।